भारत को हराकर न्यूज़ीलैण्ड विश्व कप के फाइनल में

भारत को हराकर न्यूज़ीलैण्ड विश्व कप के फाइनल में

मेनचेस्टर: रवींद्र जडेजा (77) और एमएस धोनी (50) की जुझारू पारी के बावजूद न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम ने मैनचेस्टर के ओल्ड टैफर्ड मैदान पर खेले गए आईसीसी विश्व कप-2019 के पहले सेमीफाइनल में भारत को 18 रनों से हरा दिया। इस जीत के साथ ही न्यूजीलैंड की टीम ने फाइनल में जगह बना ली, जिसका सामना दूसरे सेमीफाइनल (इंग्लैंड Vs ऑस्ट्रेलिया) के विजेता से 14 जुलाई को लॉर्ड्स में होगा।

न्यूजीलैंड की टीम लगातार दूसरी बार फाइनल में पहुंची है। पिछले वर्ल्ड कप में फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने न्यूजीलैंड को मात देकर खिताब पर कब्जा किया था। वहीं भारतीय टीम की लगातार दूसरी बार सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा है। पिछले वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को हराकर फाइनल में जगह बनाई थी।

सेमीफाइनल मैच की शुरुआत मंगलवार को हुई थी और न्यूजीलैंड ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग करने का फैसला किया था। लेकिन बारिश के कारण मैच पूरा नहीं हो सका और इसे रिजर्व डे पर बुधवार को पूरा हुआ। मंगलवार को न्यूजीलैंड ने 46.1 ओवर में 5 विकेट पर 211 रन बनाए थे और इसके बाद उसने 50 ओवर में 8 विकेट गंवाकर 239 रनों का स्कोर खड़ा किया। लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम 49.3 ओवर में 221 रन बनाकर ऑल आउट हो गई।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत बेहद खराब रही और टीम ने 5 रन के कुल स्कोर पर अपने शुरुआती तीन विकेट गंवा दिए। भारत की ओर से रोहित शर्मा, केएल राहुल और विराट कोहली एक-एक रन बनाकर आउट हुए। इसके बाद ऋषभ पंत और दिनेश कार्तिक ने पारी को संभालने की कोशिश की, लेकिन कार्तिक सिर्फ 6 रन बनाकर पवेलियन लौट गए।

इसके बाद ऋषभ पंत और हार्दिक पंड्या ने पारी को संभाला, लेकिन दोनों बल्लेबाज बड़ी पारी नहीं खेल पाए और 32-32 रन बनाकर आउट हुए। भारतीय टीम ने 96 के स्कोर पर अपने 6 विकेट गंवा दिए थे, लेकिन इसके बाद रवींद्र जडेजा और एमएस धोनी ने शानदार पारी खेलकर जीत की उम्मीद जगा दी। 48वें ओवर में ट्रेंट बोल्ड ने जडेजा को आउट किया, जिन्होंने 59 गेंदों पर 77 रनों की लाजवाब पारी खेली। इसके बाद 49वें ओवर में मार्टिन गप्टिल ने एमएस धोनी को रन आउट कर भारत के फाइनल में पहुंचने का सपना तोड़ दिया। धोनी ने 72 गेंदों पर 50 रन बनाए।

न्यूजीलैंड के लिए रॉस टेलर ने सबसे ज्यादा 74 रनों की पारी खेली। उन्होंने अपनी पारी में 90 गेंदों का सामना किया और तीन चौके तथा एक छक्का लगाया। इसके अलावा कप्तान केन विलियम्सन ने 95 गेंदों पर छह चौकों की मदद से 67 रनों की पारी खेली। भारत के लिए भुवनेश्वर कुमार ने तीन विकेट लिए, जबकि जसप्रीत बुमराह, हार्दिक पंड्या, रवींद्र जडेजा और युजवेंद्र चहल को एक-एक सफलता मिली।