जीत के बाद विलियमसन बोले, अलग सा फील कर रहे हैं हम

जीत के बाद विलियमसन बोले, अलग सा फील कर रहे हैं हम

मैनचेस्टर: आईसीसी विश्व कप-2019 के पहले सेमीफाइनल में 18 रनों से जीत हासिल करने के बाद न्यूजीलैंड के कप्तान विलियमसन ने भारतीय टीम की तारीफ की और कहा कि खराब स्थिति से मैच को इतना करीबी बनाकर भारतीय टीम ने बताया है कि वो क्यों दुनिया की बेहतरीन टीम है.

मैच के बाद विलियमसन ने कहा, "सच कहूं तो कुछ अलग सा फील हो रहा है. टीम ने शानदार प्रदर्शन किया. निश्चित रूप से यह मुश्किल मैच था. मुश्किल सेमीफाइनल था. हमने परिस्थितियों का अंदाजा बहुत जल्दी लगाया. मुझे लगता है कि दोनों टीमों को पता था कि यह हाईस्कोरिंग ट्रैक नहीं है."

विलियमसन ने कहा, "हमने सोचा था कि इस विकेट पर 240-250 का स्कोर अच्छा रहेगा और इससे हम भारत पर दबाव बना लेंगे. हमारे खिलाड़ी यह करने में सफल रहे. नई गेंद से हमारे गेंदबाजों ने पिच पर और हवा में गेंद को स्विंग कराने की कोशिश की."

उन्होंने कहा, "हमें विश्वस्तरीय बल्लेबाजी क्रम पर दबाव बनाना था. हमें पता था कि जब पिच धीमी हो जाएगी तो हमें उसका फायदा उठाना होगा, लेकिन उन्होंने बताया कि वो क्यों विश्व की बेहतरीन टीम है। वे मैच को आखिर तक ले गए जहां वे धोनी और जडेजा के दम पर जीत भी सकते थे."

विलियमसन ने कहा कि इस मैच में उनकी टीम की परीक्षा हुई है. उन्होंने कहा, "हमारे चरित्र की परीक्षा हुई और हम उसमें सफल रहे. हम कई मैच हारे लेकिन हम हार से निराश नहीं हुए और आज मैच जीतकर दिखाया. वैसे तो खास दिन पर कुछ भी हो सकता है और यह बहुत कम अंतर से हार-जीत का गेम था. जीतकर खुशी हुई."

उधर, अप्रत्याशित हार के बाद भारतीय टीम के कप्तान कोहली काफी दुखी नजर आए. उन्होंने मैच के बाद पहली प्रतिक्रिया देते हुए कहा, "हार को स्वीकार करना मुश्किल हो रहा है लेकिन न्यूजीलैंड की टीम जीत की हकदार थी. पहले हाफ में हमारा प्रदर्शन बढ़िया था. हमने सोचा था कि न्यूजीलैंड को हमने ऐसे स्कोर पर रोका है जिसे हासिल किया जा सकता है लेकिन जिस तरह से उन्होंने गेंदबाजी की, उससे हम शिकस्त खा गए."

जडेजा की तारीफ करते हुए कोहली ने कहा, "मुझे लगता है कि न्यूजीलैंड के गेंदबाजों ने जिस तरह के कौशल का प्रदर्शन किया है, वह सभी को देखना चाहिए. जडेजा ने बहुत अच्छा गेम दिखाया. उसका प्रदर्शन बहुत ही सकारात्मक रहा. न्यूजीलैंड की टीम हकदार थी, उन्होंने हम पर बहुत दवाब डाला. मुझे लगता है कि हमारा शॉट चयन और भी बेहतर हो सकता था."