विपक्ष को नहीं पच रहा यूपी का विकास: पं. श्रीकांत शर्मा

विपक्ष को नहीं पच रहा यूपी का विकास: पं. श्रीकांत शर्मा

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता पं. श्रीकांत शर्मा ने शुक्रवार को जारी अपने बयान में कहा कि मुद्दा विहीन विपक्ष आपसी प्रतिस्पर्धा में आगे निकलने की होड़ और मीडिया की सुर्खियों में बने रहने के लिए अनर्गल प्रलाप कर रहा है। कहा कि विपक्षी दलों को उत्तर प्रदेश का विकास पच नहीं रहा है। इन्होंने प्रदेश में केवल भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद ही किया है। आज प्रदेश में कानून का राज है, बड़े पैमाने पर निवेश से रोजगार आ रहा है तो प्रदेश का विकास इन्हें कष्टदायी लग रहा है, क्योंकि इनका व्यक्तिगत विकास रुक रहा है।

कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली सरकार जनभावनाओं के अनुरूप विकास कार्यों को गति देने, निवेश ले आने, युवाओं को बेहतर शिक्षा-रोजगार, किसानों की आय को दोगुना करने और सभी को सुरक्षा देने के लिए प्रतिबद्ध है। प्रदेश में कानून का ही राज है इसीलिए निवेशक आकर्षित हो रहे हैं। इन्वेस्टर समिट में हुए 4.68 लाख करोड़ के एमओयू को जमीन पर उतारने का काम तेजी से जारी है। जुलाई 2018 में 60 हजार करोड़ की 81 परियोजनाओं में से 35 जमीन पर उतर चुकी है, बाकी निर्माणाधीन हैं। अभी 28 जुलाई 2019 को हुए दूसरे ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में 65 हजार करोड़ की 292 परियोजनाओं का शिलान्यास भी गृह मंत्री श्री अमित भी शाह के हाथों हुआ। यह बताने के लिए पर्याप्त है कि निवेशकों को उत्तर प्रदेश लुभा रहा है।

सपा और बसपा के 10 वर्षों के कार्यकाल में इतना निवेश भी नहीं आया था जितना हमने 2 साल में जमीन पर उतार दिया। इसका एक ही कारण है कि तब अपराधी नेताओं और मंत्रियों की गाड़ियों में उनके साथ बैठकर घूमते थे। आज अपराधियों की जगह जेल है। यह बात जनता भी जानती है, इसीलिए उसने 2014 में केंद्र में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र भाई मोदी के नेतृत्व में सरकार बनाने का मौका दिया। 2017 में जनता ने हम पर भरोसा जताकर राज्य में भाजपा की सरकार बनाई। 2018 के नगर निकाय चुनावों में भी जनता का भरोसा कायम रहा और 2019 में केंद्र में दोबारा पूर्ण बहुमत की सरकार चुनकर जनता ने हमारी प्रमाणिकता पर अपनी मोहर लगाई।

वर्तमान सरकार के कार्यकाल में 9,549 अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है। इनमें से 6,214 दुर्दांत अपराधी हैं। 1,384 अपराधी पुलिस कार्रवाई में घायल हुए हैं तथा 90 दुर्दांत पुरस्कार घोषित तथा समाज की सुरक्षा को खतरा बने अपराधी पुलिस मुठभेड़ में मारे गये हैं। 16,165 अभियुक्तों ने अपनी जमानत निरस्त कराकर आत्मसमर्पण कर दिया है। उन्होंने बताया कि वर्तमान सरकार के कार्यकाल में अपराधों में उल्लेखनीय कमी देखने को मिली है।

यह किसी से छिपा नहीं है कि सोनभद्र-मिर्जापुर में कांग्रेसियों और सापाइयों ने मिलकर आदिवासी किसानों की जमीने लूटकर खून-खराबा करवाया। रामपुर में सपा के लोकसभा सांसद ही जमीने कब्जाने में लगे रहे। सरकार ने कार्यवाही की तो पूरी पार्टी भूमाफिया को बचाने में लग गई। विपक्षियों को यह समझना होगा कि सरकार सख्त है और आरोपी कितना भी बड़ा क्यों न हो कानून उसको उसकी सही जगह पहुंचाने का काम जरूर करेगा।

योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली प्रदेश सरकार ने कानून व्यवस्था सुदृढ़ कर देश के भीतर उत्तर प्रदेश का परसेप्शन बदला है। कभी अपराध प्रदेश के रूप में पहचाने जाने वाला प्रदेश विकास की मुख्यधारा से जुड़ा है और हर पैमाने पर बेहतर प्रदर्शन कर रहा है। अंतरराष्ट्रीय महत्व रखने वाला प्रयागराज कुम्भ हो या प्रवासी भारतीय दिवस, बिना किसी बाधा के लोकसभा चुनाव सम्पन्न कराया जाना भी इस बात को प्रमाणित करता है कि यूपी में कानून का राज है।

Lucknow, Uttar Pradesh, India