PoK में बोले इमरान, मैं दुनिया में कश्मीर की आवाज उठाने वाला एंबैसडर हूं

PoK में बोले इमरान, मैं दुनिया में कश्मीर की आवाज उठाने वाला एंबैसडर हूं

इस्लामाबाद: पाकिस्तान आज 73वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। पाकिस्तान ने घोषणा की थी कि वह 14 अगस्त को ‘‘कश्मीरी एकता दिवस’’ और 15 अगस्त भारत के स्वतंत्रता दिवस को ‘‘काले दिन’’ के रूप में मनाएगा।

इससे पहले पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने बुधवार को कहा कि ‘कश्मीरी और पाकिस्तानी एक हैं ’ और उनका देश तथा देशवासी कश्मीर के लोगों के साथ खड़े रहेंगे। यहां पाकिस्तान के 73वें स्वतंत्रता दिवस पर आयोजित मुख्य समारोह को संबोधित करते हुए उन्होंने, जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने के भारत सरकार के फैसले के खिलाफ पाकिस्तान सरकार का रुख दोहराया।

उन्होंने कहा कि इस्लामाबाद, नई दिल्ली के फैसले के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का रुख करेगा। पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर इमरान खान पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर(पीओके) की विधानसभा में पहुंचे। एक बार फिर उन्होंने कश्मीर का मसला उठाया और भारत के खिलाफ बोले।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर की असेंबली के विशेष सत्र को संबोधित करते हुए कहा है कि जम्मू कश्मीर में 370 ख़त्म करके नरेंद्र मोदी ने अपना आख़िरी कार्ड खेला है और ये उसी तरह है जैसे हिटलर ने नाज़ियों के लिए फ़ाइनल सॉल्यूशन बनाया था.

इमरान ने यह भी कहा कि भारत अब पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर में कुछ करने की तैयारी में है और जंग हुई तो उसके लिए पाकिस्तान पूरी तरह तैयार है. उन्होंने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम लेते हुए सीधे कहा- आपकी ईंट का जवाब पत्थर से देंगे.

पाकिस्तान के पीएम ने अपने भाषण में कई बार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का नाम लिया और कहा कि भारत में जो भी हो रहा है वह आरएसएस की विचारधारा के कारण ही हो रहा है. उन्होंने आरएसएस की विचारधारा को हिटलर की नाज़ी पार्टी के समान बताया. इस बार पाकिस्तान अपने स्वतंत्रता दिवस 14 अगस्त को 'कश्मीर एकजुटता दिवस' मना रहा है. पाकिस्तान ने यह क़दम भारत की ओर से जम्मू-कश्मीर राज्य को मिला विशेष दर्जा छीनने और उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने के विरोध में उठाया है.

इमरान ख़ान ने पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर की असेंबली को संबोधित करते हुए कहा, ''जो आरएसएस की विचारधारा है, जिसके नरेंद्र मोदी बचपन से सदस्य हैं. इस आरएसएस ने अपनी प्रेरणा हिटलर की नाज़ी पार्टी से ली थी. ये नस्लीय श्रेष्ठता मानते थे कि हिंदू क़ौम श्रेष्ठ है. वे समझते थे कि मुसलमानों ने हमारे ऊपर जो हुक़ूमत की है अब इनसे बदला लेना है.''

इमरान ख़ान ने कहा कि यह विचारधारा न सिर्फ़ मुसलमानों से नहीं, ईसाइयों से भी नफ़रत करती है. आरएसएस ने अपने लोगों के ज़हन में डाला है कि अगर मुसलमान हमारे ऊपर 600 साल हुक़ूमत न करते तो वो शानदार देश बनते. नरेंद्र मोदी पर आक्रामक होते हुए इमरान ख़ान ने कहा कि इस विचारधारा ने महात्मा गांधी को कत्ल किया. इसी विचारधारा ने आगे चलकर मुसलमानों का क़त्ल-ए-आम किया.''पिछले पांच सालों में जो कश्मीर में ज़ुल्म किए गए, इसी विचारधारा के कारण किए गए. यह नरेंद्र मोदी ने जो कार्ड खेला है, यह उसका आखिरी कार्ड था . यह फ़ाइनल सल्यूशन है. हिटलर ने भी नाज़ियों के लिए फ़ाइनल सॉल्यूशन बनाया था.''

इमरान ने कहा, ''मोदी ने आख़िरी कार्ड खेल दिया है, रणनीतिक ब्लंडर कर दिया है मोदी ने. यह मोदी और बीजेपी को बहुत भारी पड़ेगा. क्योंकि सबसे पहले कश्मीर का इन्होंने अंतरराष्ट्रीयकरण कर दिया. ''

इमरान खान ने कहा,''पहले कश्मीर पर बात करना मुश्किल था. अब दुनिया की नज़र कश्मीर पर है, हमारे ऊपर है कि हम इसे कैसे अंतरराष्ट्रीय मुद्दा बनाते हैं. मैं आपकी संसद के सामने जिम्मेदारी लेता हूं कि मैं कश्मीर की दुनिया में आवाज उठाने वाला एंबैसडर हूं.''