लखीमपुर: किसान पंचायत में बेइज़्ज़ती से आहत दलित सेक्रेटरी ने की आत्महत्या

लखीमपुर: किसान पंचायत में बेइज़्ज़ती से आहत दलित सेक्रेटरी ने की आत्महत्या

लखीमपुर: लखीमपुर ने एकबार फिर रोहित वेमुला कांड की याद ताजा कर दी यहाँ आरक्षण से नौकरी पाने का ताना और दुर्व्यवहार एक दलित जाति के ग्राम विकास अधिकारी की जान ले गया। जनपद लखीमपुर खीरी के विकासखंड गोला में तैनात ग्राम शिव सागर कॉलोनी छाउच्छ निवासी त्रिवेंद्र कुमार पुत्र कोमल प्रसाद की पिछले वर्ष ग्राम विकास अधिकारी के पद पर नियुक्ति हुई थी नियुक्ति के बाद उनको विकासखंड गोला की ग्राम पंचायत रसूलपुर देवरिया में तैनाती मिली जहां के दबंग प्रधान ने पहले उन्हें परेशान किया उसके बाद उस इलाके में सक्रिय किसान यूनियन के नेताओं ने भी उसके साथ जातिसूचक अभद्रता की जिस कारण आहत होकर ग्राम विकास अधिकारी त्रिवेंद्र कुमार ने आज प्रातः आत्महत्या कर ली घटना की खबर सुनकर जिले भर के ग्राम विकास अधिकारी मौके पर पहुंचे उसके बाद जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक भी ग्राम विकास अधिकारी के छाउच्छ घर पहुंचे जहां से उनकी लाश को पोस्टमार्टम के लिए ले जाया गया उधर ग्राम विकास अधिकारी ग्राम पंचायत विकास अधिकारी ग्राम विकास एवं पंचायती राज से जुड़े हुए सभी वर्गों के कर्मचारियों ने विकास खंडों में तालाबंदी करके प्रधान और किसान यूनियन के नेता के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग की

Uttar Pradesh, India