तिहाड़ से भी सरकार पर तीर चला रहे हैं चिदंबरम

तिहाड़ से भी सरकार पर तीर चला रहे हैं चिदंबरम

सरकार से पूछा, देश को इस निराशा से बाहर निकालने की योजना कहां है?

नई दिल्ली: आईएनएक्स मीडिया मामले में न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेजे गए पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने देश की अर्थव्यवस्था को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने अपने परिवार की मदद से ट्वीट किया कि- 'मुझे अर्थव्यवस्था की गहरी चिंता है। गरीब लोग सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। कम आय, कम नौकरियां, कम व्यापार और कम निवेश गरीब और मध्यम वर्ग को प्रभावित करते हैं। देश को इस गिरावट और निराशा से बाहर निकालने की योजना कहां है?'

बता दें कि 73 साल के कांग्रेस नेता को 5 सितंबर को तिहाड़ जेल में 14 दिनों की न्यायिक हिरासत पर भेज दिया गया था। सीबीआई की 15 दिनों की हिरासत पूरी होने के बाद कोर्ट ने चिदंबरम की जमानत याचिका को खारिज कर दिया था। हालांकि इस सब के बावजूद चिदंबरम ट्विटर की मदद से खुद पर लगे आरोपों और अर्थव्यवस्था पर अपना पक्ष रख रहे हैं। वहीं अपने ट्वीट में चिदंबरम ने पहले ही साफ कर दिया है कि वे ये परिवार की मदद से कर पा रहे हैं।

आप सभी का समर्थन के लिए शुक्रिया। मुझे कहना होगा कि मैं गरीब लोगों (जिनसे मुझे पिछले कुछ दिनों में मिलने और बातचीत करने का मौका मिला है) की न्याय और अन्याय के बीच अंतर करने की क्षमता से चकित हूं।

3 सितंबर को सीबीआई की हिरासत के बारे में पूछे जाने पर भी चिदंबरम ने देश की अर्थव्यवस्था पर चिंता व्यक्त की थी। उन्होंने अप्रैल से जून के क्वार्टर में 5 प्रतिशत ग्रोथ रेट को शर्मनाक बताया। उन्होंने कहा कि 5 प्रतिशत, क्या है 5 प्रतिशत, आपको याद है 5 प्रतिशत?

गौरतलब है कि आईएनएक्स मीडिया मामले में चिदंबरम को सीबीआई ने 21 अगस्त को गिरफ्तार किया था। आरोप है कि वित्त मंत्री के रूप में चिदंबरम के कार्यकाल के दौरान 2007 में 305 करोड़ रुपये का विदेशी फंड प्राप्त करने के लिए आईएनएक्स मीडिया समूह को विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) की मंजूरी देने में अनियमितता बरती गई। सीबीआई ने इस मामले में 15 मई 2017 को एफआईआर दर्ज की थी। संप्रग के शासन के दौरान चिदंबरम 2004 से 2014 तक गृह मंत्री व वित्त मंत्री रहे।

India