केन के ब्रेन से अभी तक नहीं निकला वर्ल्ड कप फाइनल

केन के ब्रेन से अभी तक नहीं निकला वर्ल्ड कप फाइनल

नई दिल्ली: 14 जुलाई को इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच लंदन के ऐतिहासिक मैदान लॉर्ड्स में वर्ल्ड कप 2019 का फाइनल मुकाबला खेला गया था। इस वर्ल्ड कप के फाइनल मुकाबले को कोई भी भूल नहीं पाएगा। वहीं, अगर न्यूजीलैंड टीम की बात करें तो वे इसके बारे में अभी भी सोचते रहते हैं। इस बात का खुलासा खुद कीवी कप्तान केन विलयमसन ने किया है।

केन विलियमसन ने कहा है कि उनकी टीम के खिलाड़ी अभी भी वर्ल्ड कप 2019 फाइनल के बारे में सोचते हैं और इसका सही मतलब निकालने की कोशिश कर रहे हैं। करीब दो महीने पहले इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच खेले गए वर्ल्ड कप के 12वें सीजन का फाइनल मुकाबला टाई रहा। इसके बाद सुपर ओवर भी टाई रहा था, लेकिन इंग्लैंड को बाउंड्री काउंट के आधार पर जीत मिली थी।

दिल को झकझोर देने वाली हार पर केन विलियमसन ने कहा, "यह एक ऐसी बात कि अगर कोई किसी दिन छेड़ दे तो खिलाड़ी उसके बारे में सोचने लगते हैं और सोचते हैं कि यह अभी की ही तो बात है। मैच को इस बात का क्रेडिट जाता है हम उसमें शामिल थे और किस तरह से नतीजा आया वो कभी ना भूलने वाला था। फाइनल की कुछ चीजें ऐसी थीं, जिसके बारे में खिलाड़ी हर समय बात करते रहेंगे।"

गौरतलब है कि इस फाइनल मैच के आखिरी ओवर का एक निर्णय काफी चर्चा में रहा, जब मार्टिन गप्टिल का थ्रो बेन स्टोक्स के बल्ले से लगकर चार रन के लिए चला गया था। बाद में अंपायर और आइसीसी को इस पर सफाई देनी पड़ी थी और बताया था कि मैच के दौरान लिए गए इस तरह के निर्णय पर सवाल नहीं खड़े किए जा सकते, क्योंकि इस तरह के ओवरथ्रो में थर्ड अंपायर का कोई रोल नहीं होता।

खुद कीवी कप्तान केन विलियमसन भी अंपायरों की आलोचना नहीं करते। केन विलियमसन ने आइसीसी क्रिकेट 360 से बात करते हुए कहा है, "निसंदेह ये मैच उन मुकाबलों में से एक था, जिसे बारे में अगर पीछे कभी भी सोचा जाएगा तो पाया जाएगा कि हम इस मैच में शामिल थे। हालांकि, अगर आप वर्ल्ड कप जीतते हैं तो आपके लिए ये खास पल हो जाता है।"

फाइनल मुकाबले के बाद कीवी कप्तान केन विलियमसन की काफी तारीफ हुई थी। यही कारण था कि न्यूजीलैंड टीम के कप्तान विलियमसन को न्यूजीलैंडर ऑफ द ईयर अवार्ड के लिए नोमिनेट किया गया था। 29 साल के केन विलियमसन ने कहा है कि जब हम फाइनल खेलकर देश लौटे तो हमें काफी सपोर्ट मिला था।