पीएम मोदी के 'अबकी बार, ट्रंप सरकार' के नारे को कांग्रेस ने बताया विदेश नीति का उल्लंघन

पीएम मोदी के 'अबकी बार, ट्रंप सरकार' के नारे को कांग्रेस ने बताया विदेश नीति का उल्लंघन

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अमेरिका के ह्यूस्‍टन शहर में आयोजित 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम को संबोधित करते हुए एक नारा दिया जिसको लेकर भारत में राजनीति तेज हो गई है। कांग्रेस ने इसे ट्रंप के लिए किया गया चुनाव प्रचार करार देते हुए भारत की विदेश नीति का उल्लंघन बताया है। दरअसल, पीएम मोदी ने यहां लोगों को संबोधित करते हुए ‘अबकी बार, ट्रंप सरकार’ का नारा दिया। बता दें कि अमेरिका में अगले साल राष्‍ट्रपति के चुनाव होने वाले हैं।

मोदी के नारे पर कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने ट्वीट कर कहा है कि प्रधानमत्री को याद रखना चाहिए कि वह अमेरिकी चुनाव के स्टार प्रचारक नहीं हैं।

कांग्रेस नेता ने कहा, 'मिस्‍टर प्राइम मिनिस्‍टर, आपने किसी दूसरे देश के घरेलू चुनावों में हस्तक्षेप न करने की भारतीय विदेश नीति के सम्मानित सिद्धांत का उल्लंघन किया है। यह भारत के दीर्घकालिक रणनीतिक हितों के लिए उचित नहीं है। संयुक्त राज्य अमेरिका के साथ भारत के संबंध द्विदलीय यानी रिपब्लिकन और डेमोक्रेट्स के लिए एक समान हैं। ट्रंप के लिए आपका यह अभियान भारत और अमेरिका दोनों संप्रभु देशों और उनके लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं हैं।'

आनंद शर्मा ने अपने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा कि आपको (पीएम मोदी) यह नहीं भूलना चाहिए कि आप हमारे प्रधानमंत्री के तौर पर अमेरिका गए हैं, न कि अमेरिकी चुनाव के स्‍टार कैम्‍पेनर के तौर पर।

गौरतलब है कि रविवार को हाउडी मोदी कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हम भारत में राष्ट्रपति ट्रंप के साथ अच्छे तरीके से जुड़े हैं और उम्मीदवार ट्रंप के लिए मैं कहूंगा 'अब की बार ट्रंप सरकार।' दरअसल, ‘अबकी बार, ट्रंप सरकार’ के नारे पर राजनीति इसलिए भी तेज हो गई है क्‍योंकि अमेरिका में अगले साल राष्‍ट्रपति के चुनाव होने वाले हैं। अमेरिका में भारतीय अमेरिकी तेजी से बढ़ता समुदाय है जो कि चुनावों में भी बढ़चढ़कर भाग लेता है। माना जा रहा है कि इस बार भारतीय अमेरिकी लोग रिपब्लिकन पार्टी के ज्यादा नजदीक हैं। यही वजह है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप भी भारतीय समुदाय को लुभाने का कोई अवसर नहीं छोड़ रहे हैं।