महाराष्ट्र चुनाव: भाजपा की पहली लिस्ट में दल-बदलुओं को तरजीह

महाराष्ट्र चुनाव: भाजपा की पहली लिस्ट में दल-बदलुओं को तरजीह

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी ने 115 सीटों के लिए महाराष्ट्र में अपनी पहली लिस्ट जारी कर दी है। पार्टी की लिस्ट में इस बार कई चौंकाने वाले नाम हैं। जहां पार्टी के चार वरिष्ठ नेताओं के टिकट कट गए हैं। वहीं कई दल-बदुलओं को पार्टी ने टिकट दे दिया है। वहीं कुछ खास लोगों को भी जगह मिली है। मसलन महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फणनवीस के निजी सहायक अभिमन्यु पवार को भी टिकट मिला है। वह औसा विधानसभा सीट से चुनाव लड़ेगे।

पहली लिस्ट में बोरीवली से विधायक और वरिष्ठ नेता विनोट तांवड़े को टिकट नहीं मिला है। इसी तरह ऊर्जा मंत्री चंद्रकांत बावनकुले , पूर्व मंत्री एकनाथ खड़से और प्रकाश मेहता को जगह नहीं मिली है। बीजेपी की पहली लिस्ट में 52 विधायकों को दोबारा टिकट मिला है।

पहली लिस्ट में दलबदलुओं को खास तरजीह दी गई है। कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए राधाकृष्ण पाटिल, जयकाम गोरे, कालिदास कोलांबकर, हर्षवर्धन पाटिल को जहां टिकट मिला है। वहीं राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी से शामिल हुए शिवेंद्र भोसले, वैभव पिचाड, संदीप नायक, रानाजगत सिहं को भाजपा ने टिकट दिया है। खास बात यह है कि रानाजगत सिंह को छोड़कर सभी लोगों को अपनी परंपरागत सीट से ही चुनाव लड़ने का मौका पार्टी ने मिला है। यानी पार्टी, इनके स्थानीय जनाधार को लुभाने की कोशिश में है।

सूत्रों के अनुसार भाजपा और शिवसेना गठबंधन ने 288 विधानसभा सीटों के लिए सीटों का बंटवारा कर लिया है। इसके तहत भाजपा 162 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। जबकि शिवसेना 126 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। भाजपा के लिए चुनौती यह है कि उसे 162 सीटों में से ही अपने सहयोगियों को भी टिकट देना है। ऐसे में लिस्ट में नाम तय करने में जहां दलबदलुओं का दबाव है, वहीं शिवसेना से नाराजगी न झेलनी पड़े इसका भी दबाव दिख रहा है।