एल्गर-डीकॉक दक्षिण की शानदार बल्लेबाज़ी, अफ्रीका का स्कोर 385/8

एल्गर-डीकॉक दक्षिण की शानदार बल्लेबाज़ी, अफ्रीका का स्कोर 385/8

विशाखापट्टनम: भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन टेस्ट मैच की गांधी-मंडेला ट्रोफी सीरीज़ का पहला टेस्ट मैच विशाखापत्तनम खेला जा रहा है। मैच के तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक दक्षिण अफ्रीकी टीम ने 8 विकेट पर 385 रन बना लिए हैं और भारत से पहली पारी के आधार पर 117 रनों से पीछे है। केशव महारज 3 और मुथुसामी 12 रन बनाकर नाबाद हैं। भारत ने अपनी पहली पारी 7 विकेट पर 502 रन बनाकर घोषित की थी। दक्षिण अफ्रीकी टीम ने मैच के तीसरे दिन 3 विकेट पर 38 रनों से आगे खेलना शुरू किया। इशांत शर्मा ने टेम्बा बामुवा को 18 रन के व्यक्तिगत स्कोर पर पगबाधा आउट कर भारत को ​तीसरे दिन पहली और कुल चौथी सफलता दिलाई। इसके बाद डीन एल्गर ने कप्तान फैफ डु प्लेसी के साथ मिलकर 5वें विकेट के लिए 115 रनों की साझेदारी की। आर अश्विन ने डु प्लेसी को 55 रन के निजी योग पर चेतेश्वर पुजारा के हाथों कैच आउट कराया। इस तरह दक्षिण अफ्रीका ने 178 के स्कोर पर अपने 5 विकेट गंवा दिए थे।

यहां से डीन एल्गर और क्विंटन डि कॉक ने दक्षिण अफ्रीकी पारी को संभाला। इस बीच एल्गर ने अपने टेस्ट करियर का 12वां शतक पूरा किया। डि कॉक ने भी अपना 5वां टेस्ट शतक ठोका। इन दोनों ने छठे विकेट के लिए 164 रनों की महत्वपूर्ण साझेदारी कर दक्षिण अफ्रीका की मैच में वापसी कराई। रवींद्र जडेजा ने एल्गर को पुजारा के हाथों कैच कराकर दक्षिण अफ्रीका के छठे विकेट का पतन किया। एल्गर ने 287 गेंदों का सामना करने के बाद 18 चौकों और 4 छक्कों की मदद से 160 रन बनाए। इसके बाद आर अश्विन ने क्विंटन डि कॉक को 111 रन के व्यक्तिगत स्कोर पर क्लीन बोल्ड कर भारत को सातवीं सफलता दिलाई। डि कॉक ने अपनी पारी में 163 गेंदों का सामना करते हुए 16 चौके और 2 छक्के लगाए। अश्विन ने ही वर्नोन फिलैंडर को बोल्ड कर भारत के खाते में आठवां विकेट भी डाला। इस तरह अश्विन में दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी में अपना पांचवां विकेट झटका। रवींद्र जडेजा के हाथ अब तक 2 सफलता लगी है। इशांत को 1 विकेट मिला है।