कड़ी सुरक्षा में कमलेश तिवारी का अंतिम संस्कार

कड़ी सुरक्षा में कमलेश तिवारी का अंतिम संस्कार

सीतापुर: हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी का कड़ी सुरक्षा में उनके पैतृक स्थान महमूदाबाद, सीतापुर में अंतिम संस्कार किया गया । बता दें कि कमलेश तिवारी की शुक्रवार को नृशंस हत्या कर दी गई थी। हत्या के बाद उनके परिवार के लोग मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बुलाने की मांग को लेकर अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिए थे। लेकिन शनिवार को लखनऊ मंडल के कमिश्नर मुकेश मेश्राम और डीएम सीतापुर अखिलेश तिवारी की ओर से लिखित आश्वासन के बाद परिवार अंतिम संस्कार करने पर राजी हो गया।

परिवार को मिले लिखित आश्वासन में बताया गया है कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार (20 अक्टूबर) तक कमलेश तिवारी के परिवार से मिलेंगे। फिलहाल विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सीएम योगी मुम्बई में हैं, जहां से वे लौटकर कमलेश तिवारी के परिवार से मुलाकात करेंगे। कमलेश तिवारी के अंतिम संस्कार में डीएम और एसपी शामिल हुए।

कमलेश के अन्तिम संस्कार में जुटे कई हिन्दू महासभा नेता

अखिल भारत हिन्दू महासभा के कई नेता मतभेद भुलाकर कमलेश तिवारी के अन्तिम संस्कार में हिस्सा लेने उनके पैतृक आवास महमूदाबाद सीतापुर पहुंचे और इस दौरान उन्होंने भावभीनी श्रद्धांजलि दी। उल्लेखनीय है कि कमलेश तिवारी अखिल भारत हिंदू महासभा केंद्रीय उच्चाधिकारी समिति के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष रह चुके है, और कुछ ही वर्ष पूर्व पार्टी छोड़कर हिन्दू समाज पार्टी बना ली थी। इस मौके पर श्रृद्धांजलि देने वालों में हिंदू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बाबा पंडित नंदकिशोर मिश्र, प्रवक्ता अधिवक्ता मनीष पांडे, हिन्दू महासभा के युवा नेता रहे और जनविकास महासभा के प्रदेश अध्यक्ष पंकज तिवारी, लखनऊ जिला अध्यक्ष ऋषि त्रिवेदी, प्रदेश महामंत्री अनुपम मिश्रा, राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री विपिन खुराना, सुरेंद्र सिंह अधिवक्ता शिशिर चतुर्वेदी रामनरेश श्रीवास्तव कार्यालय मंत्री उत्तर प्रदेश पीयूष कांत वर्मा मोहित मिश्रा राजेश मणि त्रिपाठी मनीष महाजन, सहित हजारों की संख्या में हिंदू महासभा और हिंदू समाज पार्टी के कार्यकर्ता गण मौजूद थे। हिंदू महासभा के राष्ट्रीय प्रवक्ता अधिवक्ता मनीष पांडे ने कहा कि हिंदुत्ववादी सरकार में एक हिंदुत्ववादी कमलेश तिवारी कि जिस तरह उपेक्षा की गई अपने आप में कई प्रश्न छोड़ जाती है ऐसे में जब आईएसआईएस के आतंकियों द्वारा गुजरात में यह कबूल किया गया था कि वह कमलेश तिवारी की हत्या करने के लिए आए हुए हैं तब भी बार.बार शासन प्रशासन से सुरक्षा की गुहार करने के बावजूद भी उन्हें पर्याप्त सुरक्षा मुहैया नहीं कराई गई और अंतत: सुरक्षा के अभाव में ही कमलेश तिवारी की हत्या कर दी गई यह अपने आप को हिंदुत्ववादी सरकार कहलाने वाली भारतीय जनता पार्टी के ऊपर प्रश्न चिन्ह है जिसका जवाब उन्हें देना ही होगा हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री विपिन खुराना ने कहा कि यशस्वी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ महंत दिग्विजय नाथ एवं अवेनाथ के उत्तराधिकारी हैं योगी शासन में हिंदुत्ववादी राष्ट्र वादियों की हत्या निरंतर जारी है यह बहुत ही शर्मनाक है

Uttar Pradesh, India