अर्दोग़ान का पश्चिमी देशों से सवाल, क्या सीरियाई कुर्द सेना NATO में शामिल हो गयी है

अर्दोग़ान का पश्चिमी देशों से सवाल, क्या सीरियाई कुर्द सेना NATO में शामिल हो गयी है

इस्तांबुल: तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब अर्दोग़ान ने पश्चिमी देशों की आलोचना करते हुए सीरिया में कुर्द लड़ाकों के विरुद्ध तुर्की के सैन्य आप्रेशन में सहयोग न करने पर उन पर आतंकवादियों का साथ देने का आरोप लगाया है।

रिपोर्ट के अनुसार इस्तांबोल में उनका कहना था कि क्या आप सोच सकते हैं कि नैटो के सदस्य देश और यूरोपीय संघ के देशों सहित समस्त पश्चिमी देश आतंकवादियों के साथ हैं और हम पर हमला कर रहे हैं। उन्होंने सवाल किया कि आपने आतंकवादियों का साथ देना कब से शुरु कर दिया, क्या सीरियाई कुर्द सेना (पीवाईडी, वाईपीजी) नैटो में शामिल हो गयी है और हमें पता तक नहीं चला?

रजब तैयब अर्दोग़ान ने क्षेत्र पर क़ब्ज़ा करने के इरादे के आरोपों को रद्द करते हुए कहा था कि तुर्की की किसी देश की ज़मीन पर कोई नज़र नहीं है, हम इस प्रकार के आरोपों को अपना सबसे बड़ा अपमान समझते हैं।

तुर्की ने अमरीकी उप राष्ट्रपति माइक पेन्स के साथ समझौते के बाद 120 घंटों के लिए सैन्य आप्रेशन रोकने की घोषणा कर रखी है। समझौते के अंतर्गत लड़ाकुओं को सीमा के साथ "सेफ़ज़ोन" की स्थापना के लिए क्षेत्र ख़ाली करने का मौक़ा दिया गया है।