इराक़ी सेना ने अमरीकी सैनिकों को इराक़ से निकल जाने की दी चेतावनी

इराक़ी सेना ने अमरीकी सैनिकों को इराक़ से निकल जाने की दी चेतावनी

नई दिल्ली: सीरिया से निकलकर इराक़ पहुंचने वाले अमरीकी सैनिकों को इराक़ी सेना की चेतावनी, जितने जल्दी हो सके देश छोड़ दें, इराक़ी सेना का कहना है कि सीरिया से बाहर निकलने वाले अमरीकी सैनिकों को देश में ठहरने की अनुमति नहीं है।

मंगलवार को इराक़ी सेना ने एक बयान जारी करके कहा है कि सीरिया छोड़कर जाने वाले अमरीकी सैनिक केवल इराक़ के रास्ते अपने देश वापस लौट सकते हैं, लेकिन यहां ठहर नहीं सकते।थ

ग़ौरतलब है कि अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प ने अक्तूबर के शुरू में उत्तरी सीरिया में ग़ैर क़ानूनी रूप से तैनात अमरीकी सैनिकों को निकालने का एलान किया था। जिसके बाद पिछले हफ़्ते क़रीब 1,000 अमरीकी सैनिक सीरिया छोड़कर इराक़ पहुंचना शुरू हो गए थे।

अब इराक़ी सेना के इस बयान ने सभी को चौंका दिया है, इसलिए कि इससे पहले पेंटागन ने कहा था कि सीरिया से बाहर निकलने वाले अमरीकी सैनिकों को पश्चिमी इराक़ में तैनात किया जाएगा, जो आतंकवादी गुट दाइश के ख़िलाफ़ अभियान जारी रखेंगे।

अमरीकी रक्षा मंत्री मार्क एसपर का कहना है कि जो अमरीकी सैनिक सीरिया से निकाले गए हैं, उन्हें पश्चिमी इराक़ में तैनात किया जाएगा। उसके बाद एक वरिष्ठ अमरीकी रक्षा अधिकारी ने स्पष्टीकरण देते हुए कहा था कि अभी कोई अंतिम फ़ैसला नहीं लिया गया है और योजना में बदलाव हो सकता है। सोमवार को अमरीकी सैनिकों ने साहेला क्रासिंग से होकर इराक़ में प्रवेश किया था।

अमरीकी सैनिकों के सीरिया से निकलने की घोषणा के तुरंत बाद तुर्की ने उत्तरी सीरिया में कुर्द लड़ाकों के ख़िलाफ़ सैन्य अभियान शुरू कर दिया था। 9 अक्तूबर से पांच दिन तक जारी रहने वाले हमलों के बाद तुर्की ने सशर्त युद्ध विराम स्वीकार कर लिया था।