अयोध्या विवाद: CM योगी का मंत्रियों को निर्देश, 'विवादास्पद' बयान देने से बचें

अयोध्या विवाद: CM योगी का मंत्रियों को निर्देश, 'विवादास्पद' बयान देने से बचें

नई दिल्ली: जल्दी ही राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के का फैसला आने से पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को अपने मंत्रियों से कहा कि वे किसी भी तरह का 'अनावश्यक' या 'विवादास्पद' बयान देने से बचें। उत्तर प्रदेश में शांति बनाए रखने के लिए प्रभावी समन्वय के लिए काम करना होगी। योगी ने शुक्रवार को यहां लोक भवन में मंत्रिपरिषद की बैठक में अपने मंत्री सहयोगियों से बात की। बैठक के बाद एक मंत्री ने कहा, "हां, मुख्यमंत्री ने हमें बताया है कि अयोध्या मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के मद्देनजर शांति बनाए रखने के लिए हमें कोई प्रतिक्रिया नहीं देनी चाहिए या कोई अनावश्यक बयान नहीं देना चाहिए।"

बैठक में अन्य लोगों ने कहा कि विभिन्न जिलों के प्रभारी मंत्रियों से कहा गया है कि वे समाज के सभी वर्गों के साथ पूर्ण समन्वय सुनिश्चित करें। एक अन्य मंत्री ने कहा कि मंत्रियों से कहा गया है कि वे किसी भी तरह से फैसले पर प्रतिक्रिया न दें और फैसला आने के समय अपने संबंधित निर्वाचन क्षेत्रों या जिलों में शिविर लगाएं। एक वरिष्ठ मंत्री ने कहा कि योगी आदित्यनाथ के निर्देश को रेखांकित करते हुए उन्होंने इस मुद्दे को ''पासिंग रेफरेंस '' के रूप में देखा, जिसमें यह कहा गया था कि अयोध्या के फैसले पर केवल 'सरकारी प्रवक्ता' को ही बोलना चाहिए।

Lucknow, Uttar Pradesh, India