UPPCL में हुए घोटाले पर मंत्री ने मामले को घूमाने की कोशिश की

UPPCL में हुए घोटाले पर मंत्री ने मामले को घूमाने की कोशिश की

Tauseef Quraishi

राज्य मुख्यालय लखनऊ। मोदी सरकार के उस नारे की हवा निकलती देख कि न खाऊँगा और न खाने दूँगा यूपी सरकार के मुखिया और विभागीय मंत्री सक्रिय हो गए हैं उत्तर प्रदेश के बिजली विभाग में भ्रष्टाचार की सभी हदें पार हो गई है वैसे तो यह विभाग हमेशा से ही विवादित रहा है।दिल्ली की केजरीवाल सरकार सस्ती बिजली दे रही है और यूपी सरकार हर रोज़ बिजली महँगी करने पर उतारू है जब केजरीवाल सरकार सस्ती बिजली दे सकती हैं तो यूपी सरकार क्यों नहीं यह सब विभाग में भ्रष्टाचार की ही वजह है जनता को लूटा जा रहा है और योगी सरकार व उसके मंत्री मोदी की तरह नेहरू इंदिरा गांधी की बात कर मामले को घूमाने की कोशिश कर रहे हैं।ऊर्जा विभाग के UPPCL घोटाले को लेकर ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा की प्रेस कॉन्फ्रेंस मामले को गम्भीरता से लिया गया है।कुछ ही घंटों में सीएम के निर्देश पर आरोपियों पर FIR दर्ज हुई और दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया।ऊर्जा मंत्री ने कहा कि सम्पूर्ण प्रकरण की सीबीआई जांच की सिफारिश कर दी गई है।जब तक CBI जांच शुरू नही करती तब तक EOW के DG इस मामले की जांच करेंगे।पूर्व मुख्यमंत्री आखिलेश यादव पर हमला करते हुऐ श्रीकांत शर्मा ने कहा कि आप बिना होमवर्क किये बोलते हैं, जिनके घर शीशे के होते हैं वो दूसरे के घर में पत्थर नहीं फेंकते प्रियंका गांधी का बिना नाम लिये कहा कि शहजादी की बात नही करते, वो वही कर रहीं हैं जो शहजादे कर रहे थे, वो केवल ट्विटर तक ही सीमित हैं।भ्रष्टाचार के लिए तो सुरंग आपने 2014 में पहले ही बना दी थी ये आपका ही फैसला था, इसका जवाब अखिलेश यादव को देना चाहिए।आपने 2014 में रास्ता अख्तियार किया जो रैकेट आपने लूट के लिए तैयार किया था वो लगातार काम कर रहा था, क्या वो आपके इशारे पर काम कर रहा था, क्या लूट की छूट आपने दे रखी थी, उनकी क्या भूमिका थी हमारी सरकार ने तुरंत जो गुनाहगार हैं उनको सलाखों के पीछे भेज दिया, अभी जेल में हैं, इतना जल्दी एक्शन आपकी सरकार में कभी नहीं हुआ, और न आपकी बुआ की सरकार में होता था। प्रियंका गांधी वाड्रा अपने एक सन्यासी की सरकार पर आरोप लगाने से पहले एक बार भी नहीं सोचा।लंदन की जमीन सहित वाड्रा पर लगे मामलों पर भी प्रियंका को जवाब देना चाहिए चिदंबरम के मामले में भी जवाब देना चाहिए UP की योगी सरकार भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस पर काम कर रही है हमने तो पत्र लिखा था कि इसकी CBI से जांच करवाई जाए आखिलेश भ्रष्टाचार में नाक तक डूबे हो, कब डूब जाओ पता नहीं, खनन घोटाला आपकी नाक के नीचे हुआ।लाल पत्थरों के ट्रक बीकानेर जाते थे, जब आपकी सरकार आयी तब आपने जांच क्यों नही करवाई।हमारी सरकार हाईकोर्ट के फैसके का इंतज़ार नहीं करती।सूचना मिलती है तुरन्त अपराधी को जेल भेजने का काम किया जाता है जिसने भी अधिकारी कर्मचारियों का पैसा लूटा है बचेगा नही सलाखों के पीछे जाएगा,शहजादी और शहजादे ट्विटर पर बहुत एक्टिव हैं।यही सब बातें भ्रष्टाचार को बढ़ावा देती हैं कि इसके लिए फला सरकार ज़िम्मेदार है हम नहीं सियासत चुनाव तक सीमित रहनी चाहिए सरकार के गठन के बाद इन सब बातों के कोई मायने नहीं है लेकिन यही सब होता है जिसकी वजह से भ्रष्टाचारी अपना काम करते चले आ रहे हैं।

Lucknow, Uttar Pradesh, India