तीन पत्र लिखने के बाद सिद्धू को मिली करतारपुर जाने इजाजत

तीन पत्र लिखने के बाद सिद्धू को मिली करतारपुर जाने इजाजत

नई दिल्ली: पंजाब के पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू को करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह में शमिल होने की इजाजत मिल गई। यह इजाजत विदेश मंत्रालय की तरफ से दी गई है। विदेश मंत्रालय ने कहा कि सिद्धू सिर्फ नौ नवंबर को ही पाकिस्तान जाएंगे। मिली जानकारी अनुसार, विदेश मंत्रालय ने सिद्धू को कुछ घंटों के लिए पाकिस्तान जाने की इजाजत दी है। बता दें कि सिद्धू बाघा बाॅर्डर के जरिए पाकिस्तान नहीं जा सकेंगे वह सिर्फ करतारपुर कॉरिडोर के रास्ते ही पाकिस्तान जा सकेंगे।

इससे पहले सिद्धू ने करतारपुर को लेकर विदेश मंत्रालय को तीसरा पत्र लिखा था। इस पत्र के जरिए उन्होंने करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह में शामिल होने के लिए पाकिस्तान जाने की इजाजत मांगी है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने नवजोत सिंह सिद्धू को न्योता भेजा है। पत्र में सिद्धू ने लिखा कि बार-बार रिमाइंडर देने के बाद भी आपने मुझे जवाब नहीं दिया कि सरकार ने मुझे उद्घाटन में जाने की अनुमति दी है या नहीं। उधर, पाकिस्तान ने कहा कि गुरुवार को उन्होंने करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह में शामिल होने के लिए पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू को वीजा जारी कर दिया है।

वहीं, नवजोत सिंह सिद्धू के सवाल पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने आज कहा कि कार्यक्रम के महत्व को देखते हुए किसी एक व्यक्ति को हाइलाइट करना कहीं से भी सही नहीं है। वहीं, पाकिस्तान में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैजल ने अपनी साप्ताहिक मीडिया ब्रीफिंग में कहा, 'हमने भारतीय राजनेता नवजोत सिंह सिद्धू को बाबा गुरुनानक के पवित्र तीर्थ आने के लिए वीजा दिया है।' दरअसल, सिद्धू तब निशाने पर आ गए थे जब उन्होंने पिछले साल प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में पाकिस्तान के आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा को गले लगाया था। इसके बाद उनके पाकिस्तान जाने को लेकर संशय बना हुआ है।

पत्र में सिद्धू ने यह भी लिखा है, 'देरी और कोई जवाब न मिलने से मेरे भविष्य के कार्यों में बाधा पहुंच सकती है। मैं यह स्पष्ट करता हूं कि यदि सरकार को कोई दिक्कत है तो मुझसे कहे। मैं एक जिम्मेदार नागरिक के रूप में वहां नहीं जाऊंगा लेकिन यदि आपने मेरे तीसरे पत्र का भी जवाब नहीं दिया तो हजारों सिख भक्तों की तरह मैं वैध वीजा के साथ पाकिस्तान जाऊंगा।'

India