सच्चे अम्बेडकरवादी निजी हित के बजाये, समाज हित को सर्वोपरि रखते है : लक्ष्य

सच्चे अम्बेडकरवादी निजी हित के बजाये, समाज हित को सर्वोपरि रखते है : लक्ष्य

कानपुर देहात: लक्ष्य की महिला टीम ने बहुजन जनजागरण अभियान के तहत एक कैडर कैम्प का आयोजन कानपुर देहात के मलासा के गांव गुलौली सराय में किया | जिसमें में गांव के लोगो ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया |

सच्चे अम्बेडकरवादी निजी हित के बजाये, समाज हित को सर्वोपरि रखते हैं | जिस समाज के लोग अपने निजी हित की बजाये समाज के हित को ही सर्वोपरि रखते हैं वही समाज एक मजबूत समाज होता है और उस समाज के लोग एक अच्छा जीवन जीते है और मान सम्मान उस समाज का गहना होता है। शोषण उनसे कोसो दूर होता है विपरीत इसके ऐसे समाज के लोग ही देश के हुक्मरान होते है तथा देश के संसाधनों पर उनका ही कब्ज़ा होता है | यह बात लक्ष्य की महिला कमांडरों ने अपने सम्बोधन में कही |

उन्होंने दुःख प्रकट करते हुए कहा कि ज़्यदातर समाज के लोग विशेषतौर से बहुजन समाज के नेताओ ने समाज हित के बजाये निजी हित को सर्वोपरि रखा और समाज को मूर्ख बनाने के लिए बाबा साहब डॉ भीमराव अम्बेडकर के सच्चे अनुयाई होने का ढोंग कर ठगते रहे परिणाम हमारे सामने है कि जिस समाज को देश का हुक्मरान होना चाहिए था, वह समाज दरिद्रता व शोषण का शिकार हो रहा है | लक्ष्य कमांडरों ने बहुजन समाज के लोगो से अपील करते हुए कहा कि आओ मिलकर ऐसे ढोंगी अम्बेडकरवादी नेताओ का बहिष्कार करें तथा एक सच्चे अम्बेडकरवादी होने का प्रमाण दे और समाज के हित में कार्य करें | गांव वासियो ने लक्ष्य की महिला कमांडरों की जोरदार प्रसंशा करते हुए उनके साथ मिलकर कार्य करने की इच्छा जताई |

इस कैडर कैम्प में लखनऊ से आई लक्ष्य कमांडर संघमित्रा गौतम, रेखा आर्या, लाजो कौशल, सुमिता संखवार, अनीता गौतम, राज कुमारी कौशल, मुन्नी बौद्ध, मीना सुमन, ममता, अरविंद सिंह व अंकुर गौतम ने हिस्सा लिया

Uttar Pradesh, India