श्रीराम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट में शामिल न किये जाने दुःख नहीं: वेदांती

श्रीराम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट में शामिल न किये जाने दुःख नहीं: वेदांती

बोले--बुनियाद की ईंट समान आंखो से नही दिखाई देती

रमेश चंद्र गुप्ता

बहराइच: राम जन्मभूमि न्यास के उपाध्यक्ष एवं पूर्व सांसद राम विलास वेदांती ने कहा कि श्रीराम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट में शामिल न किये जाने उन्हें दुःख नहीं | उन्होंने कहा कि अशोक सिंघल जैसे कई ऐसे लोग है जिन्होने श्रीराम मन्दिर निर्माण हेतु अपना जीवन समर्पित कर दिया। ऐसे समर्पित लोग श्रीराम मन्दिर निर्माण के बुनियाद की ईंट है जो समान आंखो से दिखाई नही देते, परन्तु उनका महत्व सर्वप्रथम एवं आवश्यक होता है।

नगर के पानी टंकी स्थित गेनार्द लाॅन में कथा के प्रवचन हेतु जनपद बहराइच पधारे श्री वेदांती ने कहा कि श्रीराम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्यो की घोषणा कर दी गई। जिनमे कई ऐसे महन्त, संत व लोग है जिन्हें शामिल नही किया गया है परन्तु उन्हें इस बात से कोई फर्क नही पड़ता है। उन्होने कहा कि घोषित नामों में उनका नाम नहीं होने का दुख नहीं बल्कि ट्रस्ट गठन व श्रीराम मन्दिर निर्माण होने की खुशी है। उन्होने कहा कि अशोक सिंघल, आचार्य गिरिराज किशोर, अवैद्धयनाथ, परमहंस चन्द्र दास आदि ऐसे लोग है जिन्होने श्रीराम मन्दिर निर्माण के लिये अपना सम्पूर्ण जीवन समर्पित कर दिया। उसी प्रकार देश की आजादी के लिये हजारो लोगो ने बलिदान दिया, जिन्हे कोई नही जानता है। उन्होने कहा कि जिस प्रकार किसी इमारत की नीवं मे लगी ईंट किसी को दिखाई नही देती। उसी प्रकार मैं भी बुनियाद की ईंट की तरह हूँ, यदि मेरे ऊपर भी मन्दिर का निर्माण हो तो मुझे कोई आपत्ति नही होगी। यह काम तो देश, समाज व आमजन के हित केे लिये हो रहा हैै। मैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्य की सरहना करता हूँ।

Uttar Pradesh, India