निर्धन महिलाओं को रोजगार देने के उद्देश्य से शुरू हुआ कुटीर उद्योग

निर्धन महिलाओं को रोजगार देने के उद्देश्य से शुरू हुआ कुटीर उद्योग

आशा वेलफेयर फाउंडेशन के बहुप्रतीक्षित प्रोजेक्ट की हुई शुरुआत

लखनऊ। सही मौके और सही निर्देशन के अभाव में कई निर्धन महिलाएं रोजगार परक काम नहीं कर पाती हैं, इसी बात को ध्यान में रखते हुए आशा वेलफेयर फाउंडेशन ने शुक्रवार को अपने ड्रीम प्रोजेक्ट बढ़ते कदम के अंतर्गत कुटीर उद्योग की शुरुआत महाशिवरात्रि के पावन दिन से प्रारंभ की। विधिवत पूजा अर्चना के साथ संस्था की अध्यक्ष सोनी वर्मा, सचिव ज्योति मेहरोत्रा ने नारियल फोड़ कर कुटीर उद्योग का उद्घाटन किया। कुटीर उद्योग के अंतर्गत शुरुआती दौर में पापड़ बनाने का कार्य शुरू किया गया है। इस कुटीर उद्योग की स्थापना गाजीपुर के मारुति क्लीनिक के पास शैदुलनिशा में किया गया है।

संस्था की अध्यक्ष सोनी वर्मा ने बताया कि आशा वेलफेयर फाउंडेशन का निर्माण मुख्यत: अत्यंत निर्धन महिलाओं के लिए रोजगारपरक प्रोजेक्ट्स बनाने के लिए किया गया था, जिसके अंतर्गत आज इसकी शुरुआत की गई है। पापड़ एवम अन्य प्रोडक्ट सेंटर के माध्यम एवं अन्य कार्यक्रमो के माध्यम से सेल किये जायेंगे। संस्था की सचिव एवं बढ़ते कदम की प्रोजेक्ट लीडर ज्योति मेहरोत्रा ने बताया कि अभी आधा दर्जन महिलाओं को पापड़ निर्माण में रोजगार दिया गया है, जिसे धीरे धीरे विस्तृत रूप दिया जाएगा और कई निर्धन महिलाओं को रोजगार प्रदान किया जाएगा।उपाध्यक्ष बृजेन्द्र बहादुर मौर्य ने बताया की बढ़ते कदम के अंतर्गत ही निर्धन आय वर्ग की लड़कियों के लिए जल्द ही निशुल्क ब्यूटी पार्लर का कोर्स सिखाने का प्रोजेक्ट प्रक्रिया में है और जल्द ही इसका भी शुभारम्भ किया जाएगा।

इस दौरान संस्था के उपाध्यक्ष एवं सोशल एक्टिविस्ट बृजेन्द्र बहादुर मौर्य, युवा संगठन सचिव अभिषेक सिन्हा, सदस्य अनीता सिंह, नाज़िया खान, विमला रावत, अर्चना सिंह सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

Lucknow, Uttar Pradesh, India