ट्रंप की भारत यात्रा के खिलाफ आसिफ मस्जिद में विरोध प्रदर्शन

ट्रंप की भारत यात्रा के खिलाफ आसिफ मस्जिद में विरोध प्रदर्शन

लखनऊ: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प 24 फरवरी को भारत की यात्रा पर आरहे हैं। भारत के मुसलमानों में अमेरिकी राष्ट्रपति की इस यात्रा के खिलाफ सख़्त नाराजगी है। 21 फरवरी को नमाजे़ जुमा के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति की भारत यात्रा के खिलाफ आसिफ मस्जिद लखनऊ में, मजलिसे उलेमाए हिंद द्वारा विशाल विरोध प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शनकारी जुमा की नमाज के बाद मस्जिद से बाहर आए और अमेरिकी राष्ट्रपति की भारत यात्रा के खिलाफ नारेबाज़ी की, और डोनाल्ड ट्रम्प की भारत यात्रा की कड़ी निंदा की। प्रदर्शनकारियों के पास एसे प्ले कार्ड थे जिन पर यमन, सीरिया, इराक और फिलिस्तीन में अमेरिका, इजरायल और सऊदी सरकार के आतंकवाद और मानवाधिकारों के उल्लंघन की निंदा की गई थी। प्रदर्शनकारियों ने भारत सरकार से मांग की कि भारत की विदेश नीति हमेशा फिलिस्तीन समर्थक रही है, लेकिन आरएसएस-नवाज़ भाजपा सरकार के सत्ता में आने के बाद से अफसोस है कि भारत की विदेश नीति में परिवर्तन हुआ और भारत ने दबे-कुचले,मज़लूम फिलिस्तीनीयों के समर्थन को छोड़ दिया, इसलिए भारत सरकार को हमेशा फिलिस्तीनी मज़लूमों का समर्थन करना चाहिए और अमेरिका एवं इजरायल के आतंकवाद के खिलाफ प्रभावी कदम उठाने चाहिए।

इमामे जुमा मौलाना सैयद कल्बे जवाद नकवी लखनऊ में मौजूद ना होने के कारण इस विरोध प्रर्दशन में उपस्थित नहीं हुए, लेकिन उन्होंने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय से ट्रम्प की भारत यात्रा की निंदा करते हुए एक संदेश भेजा। मौलाना ने कहा कि हम अमेरिकी राष्ट्रपति की भारत यात्रा की कडी निंदा करते हैं क्योंकि ट्रम्प मज़लूमों और बेगुनाहों का कातिल और ज़ालिमों का सहायक है। मौलाना ने कहा कि वैश्विक आतंकवाद का संस्थापक संयुक्त राज्य अमेरिका है, जिसने आईएसआईएस के साथ अन्य आतंकवादी संगठनों को जन्म दिया है। वह आतंकवाद की निंदा करके हमेशा दुनिया को धोखा देता रहा है क्योंकि वैश्विक आतंकवाद का जन्मदाता अमेरिका ही है।मौलाना ने कहा कि भारत को संयुक्त राज्य अमेरिका और इज़राइल जैसे देशों के साथ अपने संबंधों को बढ़ावा नहीं देना चाहिए क्योंकि उनकी दोस्ती उनकी दुश्मनी से अधिक खतरनाक है। मौलाना ने कहा कि हम संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा सेंचुरी डील लागू करने की कड़ी निंदा करते हैं, वास्तव में यह डील फिलिस्तीनियों के अधिकारों पर दिन दहाडे डाका डालने जेसा है।

प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए मौलाना सैयद रज़ा हैदर ने डोनाल्ड ट्रम्प की भारत यात्रा की निंदा करते हुए कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प की भारत यात्रा पर लाखों रुपये खर्च किये जारहे है,जबकि वह कुछ ही घंटों भारत में रहेंगे। अहमदाबाद में गरीबों की झोपड़ियों को छिपाने के लिए लंबी और ऊंची दीवार खड़ी की गई है ताकि अमेरिकी राष्ट्रपति गरीबों की झोपड़ियों को न देख सकें,काश भारत की जनता का यह पेसा भारत की गरीब जनता के विकास पर खर्च किया जाता। मौलाना ने कहा कि ट्रम्प बेगुनाहों और मज़लूमों का हत्यारा है इसलिए हम उसका भारत में स्वागत नहीं कर सकते।

प्रदर्शन के अंत में, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की तसवीरों को जलाया गया, और प्रदर्शनकारियों ने अमेरिकी के खिलाफ नारेबाज़ी करके अपना गुस्सा व्यक्त किया। प्रर्दशन में मौलाना रज़ा हैदर,मौलाना सरकार हुसैन,मौलाना मुहम्मद काज़िम, मौलाना मकातिब अली खान,मौलाना मौ0 मुस्लिम, आदिल फ़राज नकवी और अन्य लोगों ने बड़ी संख्या में भाग लिया।

Lucknow, Uttar Pradesh, India