मोबाइल बैंकिंग सुविधा देने की तैयारी कर रहा है इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक

मोबाइल बैंकिंग सुविधा देने की तैयारी कर रहा है इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक

नई दिल्ली: भारतीय डाक सेवा से जुड़ा बैंक- इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (आईपीपीबी) अपने उपभोक्ताओं को अत्याधुनिक मोबाइल बैंकिंग सुविधा देने के लिए अप्रैल से यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआई) से जुड़ने की तैयारी में है। यूपीआई एक त्वरित भुगतान प्रणाली है जिसे नेशनल पेमेंट्स कारपोरेशन आफ इंडिया द्वारा विकसित किया गया है। यूपीआई व्यक्ति को दो पक्षों के बैंक खातों के बीच त्वरित धन अंतरण की सुविधा प्रदान करती है।

यहां स्थित प्रधान डाकघर में आईपीपीबी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने पीटीआई भाषा को बताया कि आगामी अप्रैल से इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक, यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) से जुड़ जाएगा जिससे आईपीपीबी के ग्राहक अपने खाते से किसी को भी भुगतान कर सकेंगे। उन्होंने बताया कि आईपीपीबी में यूपीआई लागू होने से इस बैंक के ग्राहक आईआरसीटीसी पोर्टल पर रेल टिकट का भुगतान कर सकेंगे और साथ ही अन्य दुकानों पर क्यूआर कोड स्कैन कर सेवा या उत्पाद का भुगतान कर सकेंगे।

अधिकारी ने बताया कि आईपीपीबी फास्ट टैग रिचार्ज की सुविधा पर भी काम कर रहा है और संभवतः अप्रैल महीने से बैंक के ग्राहक अपने खाते से फास्ट टैग का रिचार्ज कर सकेंगे। इसके लिए आईपीपीबी के एप्लीकेशन पर ही फास्ट टैग रिचार्ज की सुविधा शामिल करने पर काम चल रहा है।

प्रयागराज प्रधान डाकघर के प्रवर अधीक्षक संजय डी आखाड़े ने बताया कि वर्तमान में आईपीपीबी का खास जोर आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम (एईपीएस) को लेकर लोगों में जागरूकता बढ़ाने पर है। इसके तहत ग्राहक अपने बैंक खाते का पैसा किसी भी डाकघर से निकाल सकते हैं, बशर्ते उसका बैंक खाता आधार से जुड़ा हो।

उन्होंने बताया कि एईपीएस के तहत ग्राहक किसी भी बैंक से पैसा अपने आईपीपीबी के खाते में हस्तांतरिंत कर सकते हैं। हालांकि एईपीएस सुविधा का लाभ लेने के लिए उसके क्षेत्र में डाकघर होना जरूरी है और उसका एक खाता इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक में भी होना चाहिए। आखाड़े ने बताया कि पिछले महीने के अंत में बैंक हड़ताल के दौरान 28 जनवरी को अकेले प्रयागराज में एईपीएस के तहत 1.05 करोड़ रुपये का 2200 लेन देन हुआ जोकि पूरे प्रदेश में सबसे ज्यादा हैं।