वेलिंग्टन टेस्ट: दूसरी पारी में भी लड़खड़ाई भारतीय बल्लेबाज़ी, हार का मंडराया ख़तरा

वेलिंग्टन टेस्ट: दूसरी पारी में भी लड़खड़ाई भारतीय बल्लेबाज़ी, हार का मंडराया ख़तरा

वेलिंग्टन: न्यूजीलैंड में पहला टेस्ट मैच खेल रही टीम इंडिया मैच के तीसरे दिन भी दबाव से उबर नहीं पाई है। न्यूजीलैंड की पहली पारी आज 348 रन पर सिमटी, जिसके आधार पर कीवी टीम को 183 रन की बढ़त मिली। तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक टीम इंडिया ने 4 विकेट गंवाकर 144 रन बना लिए हैं और वह न्यूजीलैंड से अभी भी 39 रन पीछे है। आज दिन का खेल खत्म होने पर उपकप्तान अजिंक्य रहाणे (25) और हनुमा विहारी (15) सुरक्षित क्रीज पर लौटे। मैच के चौथे दिन भारत को इन दोनों बल्लेबाजों से करिश्मे की उम्मीद है।

इससे पहले न्यूजीलैंड की पारी को समेटने में इशांत शर्मा की भूमिका अहम रही, जिन्होंने 68 रन देकर 5 विकेट अपने नाम किए। मेजबान टीम की ओर से कप्तान केन विलियमसन (89) के अलावा ग्रैंडहोम (43) और अपना पहला टेस्ट खेल रहे काइल जेमिसन (44) ने भी अहम पारियां खेलीं। इशांत के अलावा रविचंद्रन अश्विन ने 3, जबकि शमी और बुमराह के नाम भी एक-एक विकेट रहा।

भारत से दूसरी पारी में अच्छे खेल की उम्मीद थी लेकिन मयंक अग्रवाल के अलावा टॉप ऑर्डर के 4 बल्लेबाजों में से कोई भी बल्ले से योगदान नहीं कर पाया। लंबे समय बाद टेस्ट में वापसी कर रहे पृथ्वी साव 14 के निजी स्कोर बोल्ट का पहला शिकार बने। इसके बाद चेतेश्वर पुजारा ने अपना स्वभाविक खेल खेलते हुए धैर्य के साथ 81 गेंदों का सामना किया। पुजारा ने अपने मजबूत डिफेंस से कीवी बल्लेबाजों को कुछ देर विकेट से दूर जरूर रखा लेकिन वह उन्हें सफल होने से अधिक देर तक नहीं रोक पाए।

पुजारा बोल्ट का दूसरा शिकार बने और 81 गेंद खेलकर उन्होंने मात्र 11 रन बनाए, जिनमें कोई बाउंड्री शामिल नहीं थी। पुजारा के इस विकेट के साथ अंपायरों ने चायकाल की घोषणा कर दी। इसके बाद दिन के तीसरे और अंतिम सत्र में कप्तान विराट कोहली मयंक के साथ क्रीज पर उतरे। मयंक शानदार लय में नजर आ रहे थे लेकिन तीसरे सत्र में टिम साउदी की लेगस्टंप से बाहर जाती एक पर वह बैट अड़ा बैठे और विकेटकीपर वाटलिंग ने उनका कैच लपकने में कोई गलती नहीं की।

मयंक के लौटने के बाद कप्तान विराट पॉजिटिव माइंड सेट से खेलते दिख रहे थे लेकिन अभी स्कोरबोर्ड में 17 रन ही और जुड़े थे कि उन्होंने बोल्ट की एक शॉर्ट बॉल पर पुल खेलने का प्रयास किया, जो विफल हो गया। विकेटकीपर वाटलिंग उनकी इसी गलती का इंतजार कर रहे थे विराट का एक आसान सा कैच उनके दस्तानों में आकर गिरा।

विराट के बाद छठे नंबर पर उतरे हनुमा विहारी उपकप्तान अजिंक्य रहाणे के साथ मिलकर दिन का खेल खत्म होने तक टीम इंडिया को कोई और झटका नहीं लगने दिया। दोनों ने संभलकर पारी को आगे बढ़ाया और कमजोर गेंदों को सीमापार पहुंचाने में भी कोई कोताही नहीं बरती। दोनों ने मिलकर 5वें विकेट के लिए 31 रन जोड़ लिए हैं। अब टीम इंडिया को इन दोनों ही बल्लेबाजों से मैच के चौथे दिन बड़ी पारियों की उम्मीद होगी।