राहुल ने जाफराबाद में हुए हिंसा की निंदा की

राहुल ने जाफराबाद में हुए हिंसा की निंदा की

दिल्ली के जाफराबाद में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन के बीच रविवार को जो हंगामा शुरू हुआ वो आज भी जारी रहा. नागरिकता कानून के विरोधियों और समर्थकों के बीच हिंसक झड़प हुई और एक दूसरे पर जमकर पत्थर फेंके गए. जाफ़राबाद और मौजपुर के बीच आगजनी की भी ख़बर है. भजनपुरा के पास चांदबाग में रतनलाल नाम के पुलिसकर्मी की मौत हो गई है. रतनलाल गोकुलपुरी के एसीपी के रीडर थे.

आज की हिंसा में शाहदरा के डीसीपी अमित शर्मा भी घायल हुए हैं. नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में 10 जगहों पर पुलिस ने धारा 144 लगाई है. जाफराबाद और आसपास के कई मेट्रो स्टेशन बंद कर दिए गए हैं. पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने हिंसा की निंदा की. इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को उपराज्यपाल अनिल बैजल और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के विरोध और समर्थन के दौरान उत्तर-पूर्वी दिल्ली के कुछ हिस्सों में हिंसा के मद्देनजर कानून-व्यवस्था बहाल करने का अनुरोध किया.

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, 'दिल्ली में आज की हिंसा परेशान करने वाली है और इसकी निंदा की जानी चाहिए. शांतिपूर्ण विरोध स्वस्थ लोकतंत्र का प्रतीक है, लेकिन हिंसा को कभी भी उचित नहीं ठहराया जा सकता. मैं दिल्ली के नागरिकों से अनुरोध करता हूं कि वे उकसावे में नहीं आएं और संयम, करुणा और समझ दिखाएं.'