बहराइच:  हजारो कामगारो के लौटने के बाद प्रशासन ने बढ़ाई सतर्कता

बहराइच: हजारो कामगारो के लौटने के बाद प्रशासन ने बढ़ाई सतर्कता

ग्राम प्रधानों, ग्रा0वि0अ0 व ग्रा0प0अ0 को दिये विशेष निगरानी के निर्देश

रिपोर्ट-रमेश चन्द्र गुुप्ता

बहराइच: कोरोना के बढते पकोप के बीच चैबिस घंटे में महाराष्ट्र, पंजाब व दिल्ली से करीब 4 हजार कामगारो का समूह आने से जिला व पुलिस प्रशासन के साथ स्वास्थ्य महकमा चैकन्ना हो गया है। जिले में लाॅक डाउन न होने के बाद भी स्थानीय स्तर पर प्रतिबंधात्मक आदेश लागू किये गये है। इसके अलावा ग्राम प्रधानों, ग्रा0वि0अ0 व ग्रा0पं0अ0 से ग्रामीणों अंचलो में आये गैर प्रान्तो मे कार्यरत कामगारों पर विशेष नजर रखने को कहा गया।

महाराष्ट्र, पंजाब व दिल्ली में बढ़ते कोरोना के खौफ और लाॅक डाउन के चलते बढी तादात में कामगारो ने अपने-अपने घरो की ओर रूख किया और रविवार की देर रात तक करीब 4 हजार कामगार जिले के विभिन्न अंचलो मे आ गये है। इन कामगारो पर निगेहबानी हेतु खण्ड विकास अधिकारी के माध्यम से जिले भर के ग्राम प्रधानो को सतर्क कर दिया गया है। इस बीच बौण्डी थाने के ग्राम घरेरा नकदिलपुर के मजरा सिलौटा में पंजाब से आये युवक फौजदार (35) पुत्र हजारी को सर्दी, जुकाम व बुखार देख गांव वालो ने उसे कोरोना संदिग्ध मानकर सीएचसी फखरपुर को सूचित किया। मौके पर पहंुची स्वास्थ्य टीम ने युवक की जांच कराई और खून के नमूने लेकर जांच हेतु केजीएमयू भेजा।

उधर, नेपाल के सीमावर्ती रूपईडीहा कस्बे व नानपारा में प्रतिष्ठानो के खोलने व बन्द करने का समय पूर्वान्ह 11 बजे से सायं 5 बजे तक निर्धारित कर दिया गया है। दूसरी ओर डीएम शम्भु कुमार के निर्देश पर नगर मजिस्ट्रेट ने व्यापार मण्डल के समस्त ट्रेडो के पदाधिकारियो को पत्र प्रेषित कर देश के विभिन्न से आये कामगारो को लेकर चिन्ता व्यक्त की और जिले को कोरोना मुक्त बनाने हेतु आवश्यक वस्तुओ को छोड़कर अन्य ट्रेड के प्रतिष्ठानो को बन्द रखने की अपेक्षा की।

इस बीच कारागार में निरुद्ध बंदियों एवं कारागार कर्मियों को कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण से बचाव एवं व्यापक जनहित में कारागार में निरुद्ध बंदियों की मुलाकात की व्यवस्था को तत्काल प्रभाव से 31 मार्च तक अस्थायी रूप से बन्द कर दिया गया है ताकि परिसर में बाहरी व्यक्तियों के आवागमन को रोक कर कारागार में निरुद्ध बंदियो को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाया जा सके।

सर्राफा मण्डी 28 मार्च तक व कपड़ा मण्डी 25 मार्च तक बन्द

जिला प्रशासन की अपील पर सर्राफा व्यापार मण्डल व कारीगार व्यापार मण्डल ने देशहित में 23 मार्च से 28 मार्च तक प्रतिष्ठानो को स्वेच्छा से बन्द रखने की घोषणा की। समिति के अध्यक्ष सुमित खन्ना, दीपक सोनी दाऊजी, सत्या सोनी, राजेश कुमार सोनी, अर्जुन सोनी, सतीश अग्रवाल, रनीश जैन, मृदुल अग्रवाल, रवि रस्तोगी आदि ने बाजार मे घूमकर पूर्णरूप से सर्राफा व्यापारी की दुकानो को बन्द कराया। दूसरी ओर वस्त्र विक्रेता संघ ने प्रशासनिक अपील पर 25 मार्च तक प्रतिष्ठानो को बंद रखने का पत्र नगर मजिस्ट्रेट को सौपा। संघ के अध्यक्ष शैलेन्द्र गुप्ता व महामंत्री नवीन जैन ने बैठक कर निर्णल लिया। ------

इन्दौर से लौटे नेपालियो को पुलिस ने करायी जांच

नेपालियों को मध्य प्रदेश के इन्दौर से लेकर आ रही बस के यात्रियों को हिन्दुस्तान ढाबे पर खाना खाते देख सशंकित लोगो ने पुलिस को सूचित किया और मौके पर पहुचे जरवलरोड थाना प्रभारी बृृजेन्द्र पटेल ने बस को कब्जे मे लेकर सभी नेपाली यात्रियो को विसंक्रमित कराया और मेडिकल टीम बुलाकर सभी यात्रियों की जांच करायी। नेपाली यात्रियोे ने बताया कि इन्दौर से चलने के बाद प्रदेश के बहराइच जिले तक आने के रास्ते में कोई जांच पड़ताल नही की गई। सभी कामगार इन्दौर के होटलो में काम करते थे और प्राइवेट बस बुक कराकर नेपाल जा रहे थे।

Uttar Pradesh, India