आशा वेलफेयर फाउंडेशन ने दिहाड़ी मजदूर,रिक्शेचालको को उपलब्ध करवाया भोजन

आशा वेलफेयर फाउंडेशन ने दिहाड़ी मजदूर,रिक्शेचालको को उपलब्ध करवाया भोजन

लखनऊ: कोरोना वायरस महामारी को लेकर पूरे देश में लॉक डाउन घोषित किया जा चुका है । लोगों को घरों से निकलने की इजाजत पूरी तरीके से बंद कर दी गई है। ऐसे में दिहाड़ी मजदूर एवं रिक्शा चलाने वालों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है, बल्कि उन्हें पूरी तरह बंदी होने के कारण सवारी नहीं मिल रही है और ना ही सड़क पर सार्वजनिक तौर से चलने का आदेश है। प्रतिदिन कमा कर खाने वालों के लिए परिस्थिति काफी गंभीर हो गई है । हालांकि सरकार इस पर काफी कुछ योजनाबद्ध तरीके से कर रही है । इसी बीच आशा वेलफेयर फाउंडेशन के कानपुर प्रभारी सुमित श्रीवास्तव ने कानपुर में कई स्थानों पर दिहाड़ी मजदूर एवं रिक्शे वालों को भोजन हेतु पूड़ी सब्जी के पैकेट उपलब्ध करवाया। कानपुर के घंटाघर, बिरहाना रोड,शिवाला, ओम नगर चौराहा काकादेव,बल खंडेश्वर मंदिर,जेके मंदिर,कच्ची बस्ती,दक्षिणेश्वर मंदिर,जीटी रोड प्रेम नगर एवं शीशा स्थानों पर रह रहे मजदूर एवं रिक्शा वालों को खाना वितरित किया गया ।चूंकि लॉक डाउन के दौरान पुलिस के जवान भी पूरी तरह से मुस्तैद होकर अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं और घंटों खड़े होकर काम कर रहे हैं इसी को देखते हुए कानपुर के ही थाना बजरिया में चाय पानी बिस्कुट नमकीन आदि जवानों को सेवा भाव से वितरित किया गया। वितरण के इस मौके पर अंकुर पांडे एवं संजय निगम ने सहयोग किया । कुल 125 पैकेट से अधिक का वितरण किया गया। आशा वेलफेयर फाउंडेशन यह अपील करती है कि अपने आसपास यदि पुलिस के जवान ड्यूटी पर मुस्तैद नजर आएं तो उन्हें खाने पीने की वस्तुएं समुचित तरीके से साफ करके उपलब्ध करवाएं साथ ही घर से बिल्कुल न निकले,ज़रूरत की चीजें सरकार के आदेशुनार ही लें। चूंकि सरकार की तरफ से सख्ती अधिक होने के कारण आशा वेलफेयर फाउंडेशन के पदाधिकारियों ने ये तय किया है की वे अपने घरों के आस पास ही असहाय लोगो को भोजन उपलब्ध करवाएंगे।

Lucknow, Uttar Pradesh, India